156 Views

20 फरवरी को अरुणाचल प्रदेश के 35वें स्थापना दिवस पर युवा कांग्रेस नेता सह समाजसेवी और सत्यदेश राष्ट्रीय पत्रिका के संस्थापक मों. मंजूर आलम ने अरुणाचल के लोगों को बधाई दी है और साथ ही कहा कि उगते सूरज की भूमि अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत,दर्शनीय सौंदर्य, सुंदर पहाड़ तथा घुमावदार मार्ग, प्राकृत हरियाली और देशभक्ति की भावना के लिए जानी जाती है।
आलम ने आगे कहा कि अरुणाचल प्रदेश से उनका खास भावनात्मक प्रेम और लगाव है,वो बताते हैं कि वैसे तो उनका जन्म बिहार राज्य के झंझारपुर में हुआ है लेकिन जीवन-यापन के लिए दिल्ली में रहते हैं, फिर भी वो कहते हैं कि अरुणाचल प्रदेश उनका दूसरा घर हैं । आलम आगे बताते हैं कि जब भी वो जिंदगी में कभी किसी काम से हताश या निराश हो जाते हैं तो वो एक बार अरुणाचल की दर्शनीय सौंदर्य को देखने के लिए वहां चले जाते हैं और वहां के लोगों की सांस्कृतिक और प्यार से मंत्रमुग्ध हो जाते हैं जिससे हताशा की सभी चादरें कहीं दूर हो जाती है और काम के प्रति इमानदारी से मेहनत करने के लिए प्रेरित करती है।
मंजूर आलम कहते हैं कि अरुणाचल प्रदेश कई बार जा चुके हैं, और वहां के लोगों मुख्य रूप से गरीब व आदिवासी लोगों की सहायता के लिए काम भी करते रहते हैं और इन सब कामों में उनकी सहायता उनके मूहबोले बड़े भाई रॉबिन हिब्बू करते है। गौरतलब है रॉबिन हिब्बू अरुणाचल प्रदेश के पहले आईपीएस हैं। रॉबिन अपने प्रशासनिक जीवन से इतर लगातार समाज सेवा में जुड़े रहे हैं और जरूरतमंदो की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं ।
मंजूर आलम जल्द ही अरुणाचल प्रदेश किसी सामाजिक कार्यों के लिए जाने वाले है और कहते हैं कि इसबार वहां के रहने वाले आदिवासी के जीवन को समृद्ध करने के लिए कुछ दिन वहीं रुकेगें ताकि वहां के लोगों की सही से मदद कर सके।

अनwar

By अनwar

सत्य परेशान हो सकता है, लेकिन पराजित कभी नहीं !! follow me at Twitter @mdanwar010

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *