satish gujral
78 Views

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के छोटे भाई व पद्म विभूषण से सम्मानित मशहूर भारतीय चित्रकार, मूर्तिकार, लेखक और वास्तुकार सतीश गुजराल (satish gujral)  का 94 साल की उम्र में निधन हो गया। भारत सरकार ने कला के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सन 1999 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया था।

25 दिसंबर, 1925 में ब्रिटिश इंडिया के झेलम पंजाब (अब पाकिस्तान) में जन्में सतीश गुजराल (satish gujral)  26 मार्च 2020 को आखिरी सांस ली।  झेलम में जन्मे गुजराल (satish gujral) ने विभाजन का दुख और भयावहता देखी। इसके बाद वह शिमला चले गए, जहां उन्होंने खुद को पेंटिंग में तल्लीन कर लिया। सतीश (satish gujral) को कला का राष्ट्रीय पुरस्कार तीन बार प्राप्त हो चुका है। दो बार चित्रकला के लिए एवं एक बार मूर्तिकला के लिए। इनका विवाह किरण गुजराल (satish gujral) के साथ हुआ। इनके बेटे एक प्रसिद्ध वास्तुकार है। इनकी बड़ी बेटी अल्पना ज्वैलरी डिजाइनर है एवं छोटी बेटी रसील इंटीरियर डिजाइनर है।

सतीश गुजराल(satish gujral)  ने कई पुरस्कार जीते। जिनमें  मेक्सिको का ‘लियो नार्डो द विंसी’ और बेल्जियम के राजा का ‘आर्डर आफ क्राउन’ पुरस्कार शामिल हैं। सतीश गुजराल (satish gujral)  के चित्रों में आकृतियाँ प्रधान हैं। पशु और पक्षियों को उनकी कला में सहज स्थान मिला। इतिहास, लोककथा, पुराण, प्राचीन भारतीय संस्कृति और विविध धर्मों के प्रसंगों को उन्होंने अपने चित्रों में उकेरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *