corona
33 Views

भारत में कोरोना (Corona) वायरस संक्रमितों की संख्या 206 तक पहुंच गई है। शुक्रवार को बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर भी इसकी चपेट में आ गई हैं। उनके साथ पार्टी में शामिल होने वाली राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। इन आकड़ों में 25 विदेशी नागरिक शामिल हैं। वहीं 23 लोगों को ठीक किया जा चुका है। दुर्भाग्यवश इस कोरोना वायरस (Corona) के कारण तीन लोगों की मौत हो चुकी है। तीनों मृतकों की उम्र 60 वर्ष से ज्यादा थी। हालांकि, राहत भरी खबर यह है कि विदेशों के मुकाबले भारत में स्थिति नियंत्रण में है। हम अभी इसके दूसरे चरण में हैं। यदि हम अभी थोड़ी सी सतर्कता बरतेंगे तो इसे स्थिति को काबू में किया जा सकता है वरना इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। कोरोना वायरस (Corona) के संक्रमण के तीन से ज्यादा चरण हैं। जानें क्या हैं इसके चरण और कैसे होता है इसका फैलाव।

पहला चरण- विदेश से आए संक्रमित
इस चरण में उन लोगों को रखा गया है जिन्होंने विदेश यात्रा की है। खासतौर पर वो लोग जो कोरोना प्रभावित देशों से आ रहे हैं या फिर लौट रहे हैं।

दूसरा चरण- स्थानीय फैलाव
दूसरे चरण में वो प्रभावित लोग हैं, जिन्हें पहले चरण वालों से संक्रमण फैला है। यह लोग परिजन, दोस्त और संपर्क में आए हुए लोग भी हो सकते हैं। मसलन: रेल, मेट्रो, बस, टैक्सी या लिफ्ट के ज़रिए, इत्यादि।

तीसरा चरण- सामुदायिक फैलाव
इस चरण में लोगों के बीच जाने-अनजाने यह संक्रमण फैलना शुरू होता है। दरअसल, विदेश से आने वाले संक्रमित व्यक्ति से प्रभावित हुए परिजनों द्वारा अन्य तक इस संक्रमण का पहुंचना। तीसरे चरण में यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि संक्रमित व्यक्ति को संक्रमण कहां और किससे फैला है। मान लीजिए किसी दूध बेचने वाले को किससे संक्रमण मिला है यह पता लगाना लगभग असंभव होगा।

चौथा चरण- महामारी इस चरण में यह वायरस (Corona) महामारी का रूप ले लेता है। वहीं पांचवे और छठे चरण में स्थिति काफी भयावह हो जाती है। चीन, इटली और यूरोप इससे जूझ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *