602 Views

झंझारपुर लोकसभा क्षेत्र के यूवा कांग्रेस नेता एवं राष्ट्रीय सत्यदेश पत्रिका के संस्थापक सह प्रधान संपादक मो.मंजूर आलम व उनके परिवार के लिए बुधवार का दिन बेहद निराश और दुख भरा रहा। आलम के करीबी रहे उनके ममेरे भाई मोतिउर रहमान का एक दर्दनाक सड़क हादसे में बुधवार को इंतिकाल हो गया। खबर सुनकर उनके घर पर लोगों का हुजूम उमड़़ पड़ा। मोतिउर रहमान की गुरुवार (25 फरवरी) के दिन ज़ौहर की नमाज़ के बाद जनाज़े की नमाज़ पढ़ी गई। जनाजे की नमाज मोतिउर रहमान के बड़े बेटे हाफिज अनवर ने पढाई। इसके बाद कॉलोनी के कब्रिस्तान में लोगों की मौजूदगी में उनको सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया।

खबर की माने तो उनके इंतिकाल से न सिर्फ उनको बल्कि उनके पूरे परिवार को गहरा सदमा लगा है और उनका पूरा परिवार शोक से व्याकूल है। बेबाक इंडिया से बात करते हुए आलम ने मोतिउर रहमान के बारे में बताया की वो एक सड़क हादसे में घायल हो गए थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया और इलाज के दौरान उनका इंतिकाल हो गया। अपने भाई के समान मोतिउर रहमान को याद करते हुए आलम ने कहा कि मोतिउर रहमान दिल के बहुत नेक इंसान थे वो लोगो की बहुत मदद करते थे ओर उन्होने ये भी बताया की उनके छात्र जीवन में भी मोतिउर रहमान ने कई तरह से मदद की और हमेशा बड़े भाई की तरह साथ खड़े रहें। आलम आगे बताते हैं कि जैसे ही उन्हें इस भयावह हादसे की जानकारी हुई उन्हें कुछ समय के लिए कुछ भी समझ नहीं आया और आंखों के सामने अंधेरा सा छा गया और कुछ भी समझ नहीं आया की वो क्या करें। मोतिउर रहमान के दुनिया को अलविदा कहने से उनका निजी तौर पर नुकसान हुआ है। उन्होने कहा की स्वास्थ्य कारनों से उनके जनाजे को कंधा नहीं दे पाने का अफसोस रहेगा लेकिन वो जल्द ही उनके परिवार के दुख की इस घड़ी में परिवार से मिलने बिहार जाएगें।

वहीं, आलम ने बताया कि उन्होंने अपने मूहबोले भाई रॉबिन हिब्बु स्पेशल सीपी दिल्ली पुलिस (आईपीएस) को इस दुखद घटना की जानकारी नम आंखों से दी, जिसे सुन कर वो भी भावूक हो गए और उन्होने कहा कि उनका (मोतिउर रहमान) इतनी जल्दी हमलोगों को छोड़ कर चले जाना बहुत पीड़ादायक और दुखदायी है, खास तौर पर उनके परिवार के लिए। हिब्बु ने आगे बताया कि वो मोतिउर रहमान के बच्चो के लिए जो भी संभवता मदद की जा सकती होगी वो हेल्पिगं हैंड के सहयोग से करेंगे और उनके बच्चो को पढाई के लिए स्कॉलरशिप देकर मदद करेंगे ।

अनwar

By अनwar

सत्य परेशान हो सकता है, लेकिन पराजित कभी नहीं !! follow me at Twitter @mdanwar010

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *