1966 में मो. रफी का गाया एक गाना रिमेक के साथ बना यू-ट्यूब सुपरहिट

ज्योति सिंह, एंटरटेनमेंट डेस्क ।। “तेरे जैसा यार कहां, कहां ऐसा याराना। याद करेगी दुनिया तेरा मेरा अफसाना।” 1981 में किशोर दा की आवाज में याराना फिल्म का ये गाना लमभग 37 साल तक बच्चे बूढे और जवान सभी की दोस्ती की पहली पहचान बना हुआ था। आखिरकार वक्त बदला दोस्ती बदली और इसी के साथ आया एक ऐसा नया गाना जो रातों रात सोशल मीडिया पर मैगा हिट हो गया और यूट्यूब पर बहुत कम समय में एक मिलियन से ज्यादा बार देखा गया।

“किसी के हाथ में हीरा

किसी के कान में हीरा

मुझे हीरे से मतलब क्या

मेरा तो यार है हीरा

यारों ने मेरे वास्ते क्या कुछ नहीं किया

सौ बार शुक्रिया, सौ बार शुक्रिया

यूं तो अब तक ये गाना आप सब लोग सैकड़ों बार सुन चुके होगें। लेकिन ये गाना पहली बार कब और किसके रोल में फिलमाया गया था इसके बारे में शायद ही आपको पता होगा। हम आपको बता दें ये गाना 1966 में आई फ़िल्म ‘गबन’ के गाने का रीमिक्स वर्जन है, जिसे जाने माने सिंगर मोहम्मद रफी ने गाया है। लेकिन आज यूट्यूब पर जो इसका रीमिक्स वर्जन छाया हुआ है उसे राजीव राजा ने गाया है। गबन फिल्म के इस गाने में सुनील दत्त ने अभिनय किया है।

नए रिमिक्स में क्या है चैंज? 

बदलाव वक्त की पहली मांग होती है। जो वक्त के साथ चलेगा वही हिट होगा। इसी चीज को देखते हुए गाने के बोल में कुछ बदलाव भी किए गए हैं। दोस्ती वही गहरी जहां आप अपने आप को खुलकर रख सकें। हल्का-फुल्का हसी मजाक और छोटी-छोटी गालियां आज के यूथ फ्रैंडशिप का एक बड़ा हिस्सा है। गाने के रिमिक्स में इसीलिए कुछ गालियों का भी जिक्र हुआ। हालांकि गाने में गालियां जरुर है लेकिन कुल मिलाकर गबन फिल्म के इस गाने के बोल में मॉर्डन लाईट एब्यूजिव का तड़का हिट ही नहीं सुपरहिट हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

| ख़बर झलकी |