35 Views

देश में तेज़ी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जारी किए गए 21 दिवसीय लॉकडाउन के दौरान प्रवासीय मज़दूरों द्वारा बिना किसी साधन के हज़ारों किलोमीटर का सफर पैदल करने पर सरकार ने बस सेवा शुरू की है। इस मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि लॉकडाउन में विशेष बसों से लोगों को एक से दूसरे जगह भेजना ठीक नहीं है।

उन्होंने कहा कि इससे लॉकडाउन करने का कोई फायदा नहीं होगा। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि अगर इससे बीमारी फैलती है तो उसे रोक पाना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा। नीतीश ने कहा कि गरीब व प्रवासी मज़दूर जिस शहर में फंसे हैं उन्हें वहीं पर खाने के खाना और रहने के लिए शेल्टर होम दिए जाए।

गौरतलब है कि मज़दूरों द्वारा पैदल ही हज़ारों किलोमीटर का सफर कर अपने घरों के लिए जाते देख उत्तर प्रदेश की सरकार ने 200 बसों का इंतजाम किया है। ये बसें नोएडा और गाज़ियाबाद से हर दो घंटे में लोगों को लेकर जाएंगी। दिल्ली और एनसीआर में काम करने वाले सबसे ज्यादा मजदूर पूर्वांचल और बिहार के हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *