पेट्रोल और डीजल के दामों में लगी आग, लोग अभी भी हैं बेखबर!

पेट्रोल और डीजल के दामों में लगी आग, लोग अभी भी हैं बेखबर-इस साल जुलाई से पेट्रोल के दाम लगभग6 रुपये लीटर बढ़े चुके हैं। इस समय पेट्रोल की दर तीन साल के अपने उच्चस्तर पर है। डायनेमिक फ्यूल प्राइसिंग सिस्टम के तहत पेट्रोल-डीजल के दाम अब रोज बढ़ रहे हैं। 1 जुलाई से 25 अगस्त तक यानी 56 दिनों में पेट्रोलियम कंपनी पेट्रोल की कीमतों में 46 बार में 5रुपए 64 पैसे की बढ़ोतरी कर चुकी है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों के आंकड़ों के अनुसार जुलाई की शुरुआत से डीजल कीमतों में 3.67 रुपये लीटर की बढ़ोतरी हुई है। इस समय दिल्ली में पेट्रोल के दाम 69.04 रुपये और डीजल 57.03 रुपये प्रति लीटर है।

16 जून को दिल्ली में पेट्रोल का दाम 65.48 रुपये लीटर था जो 2 जुलाई को घटकर 63.06 रुपये लीटर पर आ गया। हालांकि उसके बाद से सिर्फ चार दिन छोड़कर प्रतिदिन पेट्रोल कीमतों बढ़ोतरी हुई है। 1जुलाई से 25 अगस्त (56 दिनो) की स्थिति में पेट्रोलियम कंपनियों ने 6 बार ही पेट्रोल के दाम कम किए हैं, 46 दिन दाम बढ़ाएं हैं औक पूरे महीने में 5 दिन दाम स्थिर थे। जबकि डीजल की कीमतों में 14 बार कमी हुई हैं और दो दिन दाम स्थिर रहे हैं। 1 अगस्त से अब तक 25 दिनों में पेट्रोल के दाम 3.54 रुपए और डीजल की कीमतें 1.64 रुपए प्रति लीटर बढ़ गए। इन चार मौकों पर पेट्रोल का दाम 2 से 9 पैसे लीटर घटा था। इसी तरह डीजल का दाम 16 जून को 54.49 रुपये लीटर था। यह 2 जुलाई को 53.36 रुपये लीटर पर आ गया। उसके बाद से डीजल का दाम बढ़ रहा है। दिल्ली में इस समय पेट्रोल का दाम 69.04 रुपये प्रति लीटर है। यह अगस्त, 2014 के दूसरे पखवाड़े के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है। उस समय पेट्रोल 70.33 रुपये लीटर था।

गौरतलब है कि 16 जून से सरकार ने पेट्रोलियम उत्पाद पर डायनामिक प्राइजिंग सिस्टम लागू करने की मंजूरी दी थी। 16 जून से कीमतों में प्रतिदिन मामूली बदलाव किया जाता है। इस सिस्टम को लागू करने से पहले दावा किया गया था कि इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार के हिसाब से तेल की कीमतें निर्धारित होंगी। तेल कंपनियों ने भी दावा किया था कि डायनामिक प्राइजिंग लागू होने का सीधा फायदा उपभोक्ताओं को मिलेगा पर शुरूआत में 30 जून तक कंपनियों ने दामों में कमी की पर इसके बाद 1 जुलाई से लगातार दाम बढ़ा ही रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *