आपके सिंदूर से प्रभावित होता है आपके बच्चे का IQ स्तर-शोध

आपके सिंदूर से प्रभावित होता है आपके बच्चे का IQ स्तर-शोध…हिन्दू धर्म में सिंदूर का बहुत खास महत्व है। यह एक महिला के लिए उसके सुहाग की निशानी होती है। एक शादीशुदा औरत को सिंदूर के बिना अधूरा माना जाता है। हिंदू पौराणिक कथाओं में सिंदूर का आध्यात्मिक महत्व माना जाता है,  परंपरागत रूप से यह पति की लंबी उम्र सुनिश्चित करने के लिए लगाया जाता है. इससे माना जाता है कि सिंदूर एक सुहागिन स्त्री को पूर्ण करता है. लेकिन हाल ही में हुई ये रिसर्च आपको सोचने पर मजबूर कर सकती है कि सिंदूर में मौजूद सीसे की मात्रा आपके बच्चों में कम IQ के साथ-साथ उनके विकास में भी रुकावट पैदा कर सकती है.

जी हां यह सिंदूर में सीसे की मात्रा खतरनाक स्तर तक हो सकती है. ऐसे में अगर कोई मां इन सीसायुक्त सिंदूर का इस्तेमाल कर करती है, तो इससे उनके बच्चों में कम IQ और उनके विकास में रुकावट जैसी शिकायतें हो सकती हैं. अमेरिका में रटगर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार अमेरिका से इकट्ठा किए गए सिंदूर के 83% नमूनों और भारत से लिए गए 78% नमूनों में प्रति ग्राम सिंदूर में 1.0 माइक्रोग्राम पाई गई.उधर, न्यूजर्सी से लिए गए 19% नमूनों और भारत से लिए गए 43% नमूनों के अध्ययन में पाया गया कि प्रति ग्राम सिंदूर में सीसे की मात्रा 20 माइक्रोग्राम से अधिक थी.

यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर डेरेक शेंडल ने कहा, ‘सीसे की सुरक्षित मात्रा नहीं है. इसलिए हमारा मानना है कि अमेरिका में तब तक सिंदूर नहीं बेचा जाए जब तक वह सीसा मुक्त नहीं हो.’बता दें कि भारत और नाइजीरिया में इस्तेमाल किए जाने वाले काजल और आंखों से जुड़े अन्य उत्पादों में सीसे की मात्रा ज्यादा होने को लेकर अमेरिका उन्हें पहले ही प्रतिबंधित कर चुका है. हालांकि यहां सिंदूर को लेकर सिर्फ चेतावनी जारी की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

| ख़बर झलकी |